किशोर पारीक "किशोर"

किशोर पारीक "किशोर"

किशोर पारीक "किशोर" की कविताओं के ब्लोग में आपका स्वागत है।

किशोर पारीक 'किशोर' गुलाबी नगर, जयपुर के जाने माने कलमकार हैं ! किशोर पारीक 'किशोर' की काव्य चौपाल में आपका स्वागत है।



रविवार, अक्तूबर 03, 2010

कोमनवेल्थ सफल करना है, महरम रख दो घाव पर

अब राष्ट्र प्रतिष्ठा दाव पर, आजाओ सब नाव पर
कोमनवेल्थ सफल करना है, महरम रख दो घाव पर
व्यक्त करें हम क्यों लाचारी, भारत मैं क्षमता अति भारी
रात दिवस सब एक करे हम,  रख बाधा से लड़ना जारी
चाहे अब जो हो जाये, आना नहीं दवाव पर
सुनते है कुछ है घोटाले, चर्चा  के मिल गए मसाले
कहते हैं, बहती गंगा मैं, हाथ सभी ने है धो डाले
विफल हुए तो भद्द देश की, आंच न आने दो प्रभाव पर 

घर के झगडे फिर निपटाना, अभी शिकायत अभी न ताना
प्रेस मीडिया नहीं खुजाये, भ्रस्ट आचरण जख्म पुराना
देश भी अपना खेल भी अपना, धुल डालना है तनाव पर
अब राष्ट्र प्रतिष्ठा दाव पर, आजाओ सब नाव पर
भूलो कोर्ट कचहरी थाना, लक्ष्य हमारा मेडल पाना
थीम सोंग अच्छा है अपना,शेरू के संग हमको गाना
मत दो ध्यान अभी चुगली पर,  निर्भर है सब भाव पर
कलमाड़ी जी कांप रहे हैं, गिल भी फीते नापं  रहे हैं
शीलाजी कुछ घबराई सी, मनमोहन जी हांफ रहे हैं
अब तो खेल शुरू है यारों, डालो जल न अलाव पर
अब राष्ट्र प्रतिष्ठा दाव पर, आजाओ सब नाव पर
कोमनवेल्थ सफल करना है, महरम रख दो घाव पर

3 टिप्‍पणियां:

  1. Common Wealth Games को देखते हुए आज सारी दुनिया की नज़र भारत पर टिकी हुई है और इसे लेकर जिस तरह कि publicity हो रही है यह अत्यंत दुर्भाग्यजनक है ऐसे में आपकी ये पंक्तिया सचमुच प्रेरणादायक हैं उनके लिए जो देश की इज्ज़त का मसाला बनाकर इसे cash कर रहे हैं

    उत्तर देंहटाएं
  2. Kishor Ji Bhai Sahab Namaskar,

    AAp Ko Bahut Badhai is anupam blog ko shuru karne ke liya. Yeh vastav me hum logo ke liya bahut upyogi hai. Ma Saraswati Aap per apni kripa Banya rakhe or hame aap ki nai nai kavitaya milti rahe, Shubkamnaye.

    उत्तर देंहटाएं
  3. Kishor Ji Bhai Sahab, Namaskar.

    Aap ko Blog Shru Karne ke liya Bahut Badhai. Yeh Blog hum sub ke liya bahut opyogi hai. Ma Saraswati Aap per hamesha Kripa Banaye Rakhe or hume nai nai kavitaye milti Rahe. Shubhkamnaye.

    उत्तर देंहटाएं